Tuesday, 30 November 2010

गरीबों को नहीं मिल रहा स्वास्थ्य

दैनिक जागरण से
राहुल गुप्ता, आगरा राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना जिले में हजारों गरीबों की सेहत बिगाड़ने का कारण बन रही है। एक तरफ जिला प्रशासन हजारों गरीबों का आज तक बीमा ही नहीं कर पाया है, वहीं योजना का लाभ देने के लिए अस्पताल प्रबंधन भी प्रशासन से नहीं जुड़ सके हैं। जिले में 27437 परिवार स्मार्ट कार्ड पाने को इधर-उधर भटक रहे हैं। बीमा पाने वाले परिवार भी बमुश्किल इलाज करा पा रहे हैं। इसके तहत साल भर में मात्र 542 केस ही हो सके हैं। इस योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे वाले परिवारों के पांच सदस्यों के लिए 30 हजार रुपये सालाना मुफ्त स्वास्थ्य बीमा का प्रावधान है। जिले में स्वास्थ्य विभाग ने सर्वे कर 71088 लोग पात्र पाए गए थे। शासन द्वारा अधिकृत आईसीआईसीआई बैंक द्वारा शुरुआत में मात्र 43651 परिवार के ही स्मार्ट कार्ड बनाए जा सके। बाकी के 27437 परिवार को अब तक बीमा योजना से नहीं जोड़ा जा सका है। बैंक और स्वास्थ्य विभाग के हजारों चक्कर लगाने के बाद भी इन लोगों को आश्वासन का मरहम लगाकर वापस कर दिया जाता है। योजना की एक कड़वी हकीकत यह भी उजागर हुई कि अस्पताल प्रबंधन योजना का लाभ देने के लिए नहीं जुड़ रहे हैं। सरकार की मंशा के अनुसार इस योजना से गांव, देहात और शहर के सभी प्रमुख अस्पतालों को जोड़ना था, मगर अब तक कुल 17 अस्पताल ही जुड़ सके हैं। इसके लिए सीडीओ राजकुमार श्रीवास्तव ने अस्पताल प्रबंधनों से आमंत्रण मांगे थे, मगर प्रयास व्यर्थ साबित हुए। सीडीओ ने बताया कि आईसीआईसीआई लोम्बार्ड से करार खत्म कर दिया है, अब ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी को यह जिम्मेदारी दी गई है।